Deviprasad Bubna

Shri Deviprasad Bubna (Ratanlal Brijmohan Sons, Mumbai)

Deviprasad Bubna

उच्च शिक्षित, कुशल व्यवसायी के साथ विनम्र स्वभाव के धनी श्री देवीप्रसाद बुबनाजी मुम्बई सहित देशभर के कपड़ा व्यवसाय के आधार स्तंभ रह चुके पुश्तैनी फर्म “बृजमोहन कालुराम” के संचालकों में से एक है। एक ओर जहाँ आप मुम्बई कपड़ा बाजार के स्वर्णिम काल के हमसफर रह चुके हैं, वहीं विभिन्न सामाजिक व धार्मिक संस्थाओं के साथ जुड़कर पुरखों द्वारा संचालित निःस्वार्थ व जनोपयोगी कार्यों के वटवृक्ष को भरपूर सींचने का कार्य किया है। आज मुम्बई महानगर के कपड़ा व्यापारियों में आपका नाम काफी सम्मान व आदर के साथ लिया जाता है।

3 जुलाई 1941 को मुम्बई के प्रतिष्ठित सामाजिक व व्यवसायिक परिवार श्री रतनलाल बुबना और श्रीमती सुवटी देवी के घर में आपका जन्म हुआ। आपके परिवार का मूल निवास फतेहपूर शेखावटी, राजस्थान है, जहाँ आज भी आपकी पुश्तैनी विशाल हवेली कायम है। साथ ही पुरखों द्वारा निःस्वार्थ जनसेवा को समर्पित बृजमोहन आई हॉस्पिटल, बुबना धर्मशाला, फ्री वाटर सप्लाई आदि आज भी आपके परिवार के नेतृत्व में सफलता पूर्वक संचालित हो रहा है। आपकी प्रारंभिक शिक्षा मुम्बई के मारवाड़ी कमर्शियल हाईस्कूल में हुई। बचपन से ही पढ़ाई में आप एक मेधावी छात्र रहे। हाई स्कूल की परीक्षा में अच्छे अंकों के साथ ही स्कूल में दूसरा स्थान हासिल किया। सिडनम कॉलेज, मुम्बई से बी.कॉम की परीक्षा में कॉलेज टॉपर होने पर गवर्नर के हाथों आपको सम्मानित किया गया। इसके पाश्चात् आगे एल.एल.बी. डिग्री की पढ़ाई आपने गवनर्मेंट लॉ कॉलेज, मुम्बई से किया, जिसमें आपने मुम्बई विश्वविद्यालय में 5 वाँ रैंक हासिल किया।

पढ़ाई के साथ-साथ आपने 1965 से अपने पुश्तैनी कपड़ा व्यवसाय में परिवार के साथ हाथ बंटाने लगे। “बृजमोहन कालुराम” के नाम से आपका कपड़े का पुश्तैनी व्यवसाय है। यह आपके दादाजी द्वारा स्थापित सौ साल से भी अधिक पुराना फर्म है। इस फर्म को मुम्बई की आढ़त मंड़ी का सबसे पुरानी आढ़तों में से एक होने का गौरव प्राप्त है। इस आढ़त के माध्यम से कपड़े का व्यवसाय पूरे देश में होता है। जैसा कि सबको ज्ञात है मुम्बई कुछ समय पूर्व तक टेक्सटाईल मार्केट का प्रमुख मंड़ी थी तथा देश के हर भाग से व्यापारी यहाँ आते थे। उन व्यापारियों को मुम्बई आने पर बड़े व्यापारी अपने यहाँ ठहरने, खाने-पीने की समुचित व्यवस्था निःशुल्क किया करते थे। इस कार्य में आपका परिवार व फर्म का नाम का सम्मानीय व सर्वश्रेष्ठ स्थान प्राप्त था। आपके परिवार की ओर से भूलेश्वर का एक पूरा मकान उऩ लोगों के लिए सदैव सुरक्षित रखा रहता था, जिसमें जरूरत की हर सुख-सुविधा निःशुल्क उपलब्ध थी।

आप सात भाई है, सभी इसी व्यवसाय से जुड़े हुए हैं। समय के साथ भाईयों में जब बंटवारा हुआ तो आपने “राणी-सती ट्रेड़िंग” के नाम से 1972 में आपने नई आढ़त की शुरूआत की और इससे ट्रेडिंग का काम शुरू किया। व्यापार में उधारी की जगह नकदी व्यापार की परंपरा की शुरूआत किया। नकदी के कारण कपड़ा सस्ता मिलता था और कम कीमत पर लोगों तक पहुँचता था। आपने अपनी लगन, मेहनत व सुझ-बूझ से व्यापार को नई ऊँचाईयों तक पहुंचाया। 1995 में “रतनलाल बृजमोहन एंड सन्स” के नाम से पुनः नये फर्म की शुरूआत की। वर्तामान में आप इस फर्म के माध्यम से शर्टिंग, एम्ब्रोडरी एवं अन्य वैल्यूएडेड़ कपड़ो का व्यवसाय कर रहें है।

व्यवसाय के साथ-साथ आपने सामाजिक दायित्वों का भी सदैव ध्यान रखा है। जिस तरह पहले के सेठ-साहुकार अपने आय का अधिकतर हिस्सा जन-कल्याण कार्य जैसे- धर्मशाला, कुआँ, स्कूल, अस्पताल के कमरे आदि बनवाने में खर्च किया करते थे। उनकी भावना निःस्वार्थ, जनोपयोगी होती थी। वर्तमान की तरह आडम्बरयुक्त व दिखावा मात्र के लिए नहीं हुआ करता था। आपके दादाजी व पिताजी ने निःस्वार्थ व जनोपयोगी कार्यों का जो वटवृक्ष लगाया था, उसे सींचने का कार्य आपको विरासत में मिला। उस कार्य को आपने अपना कर्तव्य मानकर आगे बढ़ाते रहे। आपको इस कार्य से आनंद की अनुभूति होती है। इस नेक कार्य से आपकी ख्याति में चार-चाँद लगने लगे। आपकी निःस्वार्थ सेवा भावना को देखते हुए मुम्बई कपड़ा बाजार की सबसे पुरानी संस्था हिन्दुस्तान चेम्बर ऑफ कॉमर्स का कमिटी मेंबर व कोषाध्यक्ष बनाया गया। इसकी सहायक संस्था हिन्दुस्तान चेम्बर चिकित्सालय का सेक्रेट्री भी आप बने। मुम्बई के प्रसिद्ध मारवाड़ियों की संस्था मारवाड़ी सम्मेलन से भी आप काफी समय तक जुड़े रहे। वर्तमान में हिन्दुस्तान चेम्बर ऑफ कॉमर्स के कमिटी मेंम्बर के साथ परमार्थ सेवा समिति के सदस्य के रूप में भी कार्य कर रहें हैं। आप ट्रस्टी के रूप में बृजमोहन आई हॉस्पिटल फतेहपुर, बुबना धर्मशाला फतेहपुर, फतेहपुर फ्री वाटर सप्लाई ट्रस्ट के अलावा अनेक सामाजिक एवं धार्मिक संस्थाओं के साथ जुडे हुए हैं।

आपके परिवार में आपकी धर्मपत्नी श्रीमती बेला देवी, पुत्र व पुत्रवधु क्रमशः पंकज व संगीता बूबना तथा संजीव व संगीता बूबना के साथ पौत्र अनंत, निहारिका, राधिका, शुभांग, श्रेय का समावेश है। मुम्बई के मरीन ड्राईव पर स्थित ज्योति सदन में अपने सभी सातों भाईयों के साथ आपका पूरा परिवार एक साथ, एक छत के नीचे शांतिपूर्वक रहकर संयुक्त परिवार की भारतीय परंपरा का उत्कृष्ट उदाहरण प्रस्तुत करता है। दोनों पुत्र आपके साथ ही कपड़ा व्यवसाय से जुड़े है और आपके साथ कार्यों में हाथ बंटा रहें है।


Biography

Basic Info…
Name: Shri Deviprasad Bubna
Born: 3 July 1941
Education: B.Com, LLB (Mumbai)
Profession: Business

Family Member Info…
Father: Late Shri Ratanlalji Bubna
Mother: Late Smt. Suvati Devi

Wife: Smt. Bela Devi

Son & Daughters in Law:
Mr. Pankaj - Sangeeta Bubna
Mr. Sanjeev - Sangeeta Bubna

Grand Children:
Niharika, Radhika, Anant, Shubhang, Shrey

Organization …
Ratanlal Brijmohan Sons, Mumbai
ACE Investment Intermediaries, Mumbai

Related Society & Trust …
Ex-Treasurer & Committee Member:
Hindustan Chamber of Commerce’s, Mumbai

Ex-Secretary:
Hindustan Chember Chikitsalya, Mumbai

Member :
Parmarth Seva Samiti, Mumbai
Marwadi Sammelan, Mumbai

Private Trust :
Brijmohan Bubna Eye Hospital, Fatehpur
Bubna Dharmshala, Fatehpur, Rajasthan
Free Water Supply Trust, Fatehpur
Ratanlal Brijmohanlal Trust, Mumbai

Related Location…
Native: Fatehpur Shekhawati, Rajasthan
Birth: Mumbai at Maharastra, India
Education: Mumbai at Maharastra, India
Work Area: Mumbai at Maharastra, India

Get In Contact:
Address: 500, Chandra Chowk, M.J. Market, Mumbai - 400 002

Tel: +91 - (022) - 2243 2839 / 2240 3627
(R) 2204 5426 / 2288 1694
Email: ace.invest@hotmail.com
Web:


श्री देवीप्रसाद बूबना के जीवन के कुछ अनमोल यादगार पल की चित्रित झलकियाँ