Jayawanti Mehta

Smt. Jayawanti Mehta (Ex-Union State Minister of Power)

जनसंघ के वरिष्ठ नेता डॉ. बसंतकुमारजी पंड़ित की भविष्यवाणी को सकार करते हुए भारतीय राजनीति की अग्रीम पंक्ति में खड़ी यशस्वी श्रीमती जयवंती मेहता ने राजनीतिक जीवन में एक-दो नहीं पूरे पच्चास से अधिक वर्षों का सफर पुरा किया है। इनकी यह अविराम यात्रा अनेकों उतार-चढ़ाव से जुझते हुए इस मुकाम तक पहुँची है। उनकी छवि लोगों के सुख-दुख में सदैव अडिग खड़ी नारी शक्ति की एक जीवंत प्रतिभा के रूप में उभरी है। अपने कार्यों से वह आज न जाने कितनों के लिए प्रेरणास्रोत बन चुकी हैं।

श्रीमती जयवंती मेहता का जन्म श्री द्वारकादासजी मेहता तथा स्व. श्रीमती विजयाबेनजी मेहता के गृहस्थांगन में 20 दिसम्बर 1938 को औरंगाबाद में हुआ। मात्र डेढ़ वर्ष की आयु में इनकी माताजी का देहावसान हो गया। इनकी बुआ श्रीमती बसंतीबेन नें तब से इनका लालन-पालन व घरेलु कार्यों जैसे पाककला, संगीत, सिलाई-कढ़ाई आदि में निपुण किया। औरंगाबाद के गुजराती पाठशाला में चौथी तक तथा वहीं के श्री शारदा मंदिर कन्याशाला से मराठी भाषा में आगे की पढ़ाई की। इसी विद्यालय की कई छात्राओं के साथ आज भी इनके घनिष्ठ मैत्री संबंध कायम है। इनमें सर्व श्रीमती लीला तिलक, विलासनी चितले, कृष्णकला-वासुमती, विमल दंडनायक, कुमद अष्टपुत्रे, विजया गुप्ते आदि प्रमुख है।

17 वर्ष की आयु में आपकी शादी श्री नवीनचंद्रजी मेहता के साथ हुआ। आपके पति श्री नवीनचंद्रजी मेहता राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सदस्य के साथ ही एक निष्ठावान व सिद्धांत प्रिय व्यक्ति थे। वे अक्सर सर्वश्री आदरणीय गुरूजी, माननीय अटलजी, दत्तोपंतजी ठेंगड़ी और जनसंघ के अन्य वरीष्ठ नेताओं के भाषण सुनने के लिए आपको साथ में लेकर जाते थे। जनसंघ द्वारा आयोजित गुरू पुर्णिमा, शरद पुर्णिमा, होली आदि विभिन्न त्योहारों में भी आप साथ-साथ सम्मिलित होती रहीं। इन सब का आपके जीवन पर गहरा प्रभाव पड़ा। धीरे-धीरे आप भी जनसंघ के रंग में रंगती चली गई, जो आज तक कायम है। इस दौरान आपको संघ के सर्वश्री दत्तोपंत ठेंगड़ी, रज्जू भैया, लक्ष्मणराव इनामदार, सुन्दर सिंह भंडारी, कुशाभाऊ ठाकरे, जगदीश माथुर, नानाजी देशमुख, रामभाऊ म्हालगी, वसंतराव भागवत, रामभाऊ गोडबोले, मधुकरराव मंत्री, डॉ. परूलेकर, केदारनाथ साहनी जैसे कई महानुभावों के साथ आगे चलकर काम करने का भी मौका मिला।

सक्रिय राजनीतिक में आपका आगमन भी एक अविस्मरणीय घटना है। यह घटना सन् 1962 की है। उस वर्ष लोकसभा तथा विधानसभा का चुनाव एक साथ होना था। जनसंघ की ओर से दक्षिण मुम्बई चुनाव क्षेत्र में चुनाव प्रचार करने का आपको आमंत्रण मिला। पति के आग्रह पर आपने कालबादेवी के विठ्ठलवाड़ी में एक जनसभा को संबोधित करने का आग्रह स्वीकार कर लिया। इस सभा को असफल बनाने के नीयत से विरोधीदल के लोगों नें आपको माइक पर आते ही बिजली का कनेक्शन काट दिया। इससे आपके अंदर को कोप जाग उठा और आपने बिना माइक के ही आधे घंटे तक जोर-जोर से शुद्ध मराठी में धाराप्रवाह भाषण दे डाला। सारे विरोधी इस घटना से स्तब्ध थे। आपकी इस अदम्य साहस की चर्चा राजनीति गलियारे की केन्द्रबिन्दु बन गया। यह आपकी पहली सभा थी, जो काफी सफल रही थी। इसके साथ ही सक्रिय राजनीति में आपका पदार्पण हुआ और फिर आपने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। जनता आपको ने 1968 से 1978 तक नगर निगम पार्षद (दो बार), 1978 से 1985 तक विधायक (दो बार) और 1989 में नौंवी लोकसभा, 1996 में ग्यारहवीं लोकसभा तथा 1999 से 2004 तक तेरहवीं लोकसभा में सांसद (तीन बार) के रूप में भारी मतों से विजय बनाकर आपना प्रतिनिधी चुना। माननीय श्री अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व में केंद्र में बनी भाजपा सरकार के मंत्रीमंडल सदस्य में आपको ऊर्जा राज्यमंत्री पद का दायित्व सौंपा गया, जिसे आपने बाखुबी निर्वाह किया।

जनप्रतिनिधी के साथ-साथ आपने अपने पार्टी के दायित्वों का भी सफल निर्वाह किया है। इसकी शुरूआत 1965 में हुआ। पार्टी ने आपको भारतीय जनसंघ की मुम्बई शाखा की उपाध्यक्ष के तौर पर नियुक्त कर पार्टी का दायित्व सौंपा। इस दौरान आपने जनसंघ की ओर से प्रारंभ किये गये जोनबंदी समाप्ति आंदोलन का नेतृत्व फोर्ट, मुम्बई स्थित हुतात्मा चौक पर सत्याग्रह करके किया, जिसके कारण तत्कालीन सरकार ने आपको गिरफ्तार करके सात दिन के कारावास में अर्थर रोड़ जेल भेज दिया गया। यहां पर आपने महिला कैदियों के साथ दुरव्यवाहार व नरकीय जीवन स्तर को करीब से देखा। 1975 में आपातकाल के दौरान मीसा के अंतर्गत भी आपको 19 माह तक कारावास में रहना पड़ा।

1980 में भारतीय जनता पार्टी के जन्म के साथ आपको भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारणी सदस्य बनाया गया, जिसपर आप आज भी कार्यरत हैं। इसके साथ ही आपको 1988-92 तक भाजपा राष्ट्रीय मंत्री, 1991-95 तक भाजपा महिला मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष, 1993-95 तथा 2007-08 तक भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के तौर पर कार्य किया। इस दौरान भाजपा के कई वरिष्ठ नेताओं के साथ आपके घनिष्ठ संबंध रहे। पार्टी के शीर्ष नेताओं में मा. सर्वश्री अटल बिहारी वाजपेयी, लालकृष्ण आडवाणी, डॉ. मुरली मनोहर जोशी, राजमाता स्व. श्रीमती विजया राजे सिंधिया, भाई महावीर, सुन्दरसिंह भंडारी, कुशाभाऊ ठाकरे, जगदीश माथुर, स्व. प्रमोद महाजन आदि प्रमुख है। इसके अतिरिक्त मुम्बई में सर्वश्री जी.बी. कानेटकर, मधुकरराव मंत्री, बबनराव कुलकर्णी, वसंतराव भागवत, हशु आडवाणी, वेदप्रकाश गोयल रामनाईक, राम आपसे, मुरारीलाल अग्रवाल, सुरेश अग्रवाल इत्यादि प्रमुख नेता आपके राजनीतिक गुरू एवं पथ प्रदर्शक रहें हैं।

राजनीति के साथ-साथ धार्मिक व सामाजिक कार्यों तथा संस्थानों के साथ भी आपके घनिष्ठ संबंध रहें है। पिछले लगभग 200 वर्षों से आपके भूलेश्वर स्थित घर पर दस दिवसीय गणपति की स्थापना होती चली आ रही है। श्रीकृष्ण भगवान ठाकुरजी के रूप में सदैव आपके वर्ली स्थित घर पर विरामान रहतें हैं, जिनकी नित्य श्रद्धा-भाव से पूजा करतीं आ रहीं है। नवरात्रि व दुर्गापूजा से भी आपका गहरा लगाव है, खासकर भूलेश्वर स्थित पंडाल से। इस मंडल ने आपकों “भूलेश्वर की भवानी” की उपाधी से सम्मानित किया है। वर्तमान में आप परोपकार, मुम्बई के प्रेरणास्रोत के साथ श्रीआदर्श रामलीला समिति, मुम्बई के ट्रस्टी, रोटरी क्लब ऑफ साउथ मुम्बई के सदस्य के रूप में जुड़ी है। भावनगर, गुजरात की पी.एन.आर. सोसायटी जो विकलांगों की सेवा, शिक्षा एवं सुखी जीवन के लिये कार्यरत है, के साथ भी आप जुड़ी है। सामाजिक-सास्कृतिक संस्थानों में सहभागिता, विशेष रूप से पिछड़े वर्ग का उत्थान, महिलाओं पर हो रहे अत्याचार का विरोध, महँगाई के विरूद्ध संघर्ष, विकलांग एवं जरूरतमंद लोगों की सहायता, स्वास्थ एवं शिक्षा का प्रचार व प्रसार के साथ विदेश-यात्रा, पाककला, नाटक-संगीत-सिनेमा तथा मराठी, हिंदी व गुजराती साहित्य आदि आपकी विशेष रूचियों में शामिल है।


Biography

Basic Info…
Name : Smt. Jayawanti Mehta
Born : 20 December 1938
Education : Sahityaratna
Profession : Politics

Family Member Info…
Husband’s : Late Shri Navinchand Mehta

Father-in-law: Lt. Shri Tulasi Das Ji
Mother-in- law: Late Smt. Moti Ben Ji

Father : Late Shri Dwarka Das Ji
Mother : Late Smt. Vijayaben Ji

Son & Daughter in Law:
Sunil - Priti Mehta

Daughter & Son-in-law:
Madhvi - Raj Khandwala

Grand Children:
Krishn, Kinnari

Political Post …
1968-78 BMC Parshad, Mumbai (2 Time)
1978-85 M.L.A., Maharashtra (2 Time)
1989 M.P. (9th Parliament Member)
1996 M.P. (11th Parliament Member)
1999-2004 M.P. (13th Parliament Member) & Union State Minister of Power
Party Post …
1962 Political Entry
1975-76 19 Month Jail under MISSA
1980 National Committee Member, BJP
1988-92 National Secretary, BJP
1991-95 President, National Mahila Morcha, BJP
1993-95 National Vice President, BJP
2007-08 National Vice President, BJP

Related Society & Trust …
Chairperson (Mahila Committee) :
Paropkar, Mumbai

Trustee :
Shri Adarsh Ramleela Samiti, Mumbai

Member :
P.N.R. Society, Bhavnager, Gujarat

Related Location…
Birth: Aurangabad, Maharashtra, India
Education: Aurangabad, Maharashtra, India
Work Area: Mumbai, Maharashtra, India

Get In Contact:
Address :
903, Purna Apartment, 68/68 A, Sir Pochkhanwala Road, Worli Sager Society, Mumbai – 400030

Tel: + 91 - 24928800 /
Email:


श्रीमती जयवंती मेहता के जीवन के कुछ यादगार पल की चित्रित झलकियाँ