Narendra Gupta

Mr. Narendra Gupta (S.E.O.)

Narendra Gupta

राजस्थान की धरती पर कई होनहार पैदा हुए है, जिन्होनें अपनी माटी का नाम रोशन किया है। ऐसे ही एक शख्सियत का नाम नरेन्द्र गुप्ता है। इनका जन्म 23 सितंबर 1963 को राजस्थान के सीकर जिला अंतर्गत नीमकाथाना तहसील के भुदोली गांव में हुआ। पिता स्व. कालूरामजी आग्रवाल तथा माता श्रीमती पतासी देवी के उच्च संस्कारों के कारण बचपन से ही जीवन में कुछ कर दिखाने की भावना इनके मन में पनप रही थी और पुरखों का आशिर्वाद भी इनके साथ था। प्रारंभिक शिक्षा गांव में ही हुई। राजस्थान विश्वविद्यालय, जयपुर से एम.ए. कर भारतीय सभ्यता व संस्कृति में डिप्लोमा प्राप्त किया।

1995 में मुम्बई आकर इन्होने कपड़ा व्यवसाय का चयन किया। मुम्बई कपड़ा मंड़ी की हृदयस्थली कालबादेवी में अपना कार्यालय खोला। ‘नरेंद्र टेक्टाईल एजेंसी’ के नाम से अपने व्यवसाय की शुरूआत किया। मितभाषी, सरल हृदय, मिलनसार एवं दृढ़ निश्चयी, धुन के धनी नरेंद्र गुप्ता ने कभी हार नहीं मानी। मेहनत, लगन के बल पर शीध्र ही कपड़ा व्यवसाय जगत में अपना एक नाम व उच्च मुकाम हासिल कर लिया। वर्तमान में ‘नरेन्द्र टेक्सटाईल एजेंसी’ तथा ‘एन.के. टेक्सटाईल एजेंसी’ नाम से इनकी दो फर्म काम कर रही है। इसकी शाखा सुरत, गांधी नगर, दिल्ली, अहमदाबाद, कोलकत्ता सहित विभिन्न शहरों में कार्य कर रही है।

पारिवारिक संस्कार तथा उच्च शिक्षा के कारण व्यवसायिक सफलता के साथ समाजसेवा की भावना कभी कम नहीं हुई। इनका मानना है कि समाजसेवा ही एक ऐसा माध्यम है जिससे आदमी आत्मिक संतुष्टि प्राप्त कर सकता है। भागमभाग वाली जिंदगी में कुछ पल मानसिक शांति के लिए होना चाहिए और वह मिल सकती है सिर्फ समाज सेवा से। इन्होंने जन्मभूमि तथा कर्मभूमि को समान महत्व दिया। मानव सेवा को ईश्वर की सेवा मानकर विभिन्न सामाजिक एवं धार्मिक आयोजनों में सदैव अग्रणीय रहकर तन-मन-धन से हर रचनात्मक कार्यों में अपना सहयोग प्रदान करते रहे। स्वास्थ्य शिविर, रक्तदान शिविर, अपंग व जरूरतमंद लोगों के लिए सहायता शिविर तथा शादी योग्य युवक-युवतियों का परिचय सम्मेलन जैसे कार्यक्रमों में विशेष रूची लेकर समय-समय पर इसके आयोजन की भी व्यवस्था करते रहते हैं। आपदाग्रस्त लोंगों की हर संभव तरीके से मदद, सरकरी स्कूलों में नोट बुकों का वितरण, वृद्धाश्रम एवं अनाथाश्रम में मकर संक्रांति पर समानों का वितरण, मेड़िकल कैंप आदि जैसे कार्यक्रमों का सिलसिला वर्ष भर अबाध गति से चलता रहता है।

मेहनत, लगन तथा निःस्वार्थ भाव से की गई सेवा का ही परिणाम है कि आज मारवाड़ी समाज में इनका एक गौरवपूर्ण स्थान है। अच्छे कार्य करनेवालों के कई विरोधी व आलोचक भी होते हैं। परंतु विरोधी भी इनकी कार्यक्षमता एवं सम्पर्क के कायल है। इन्होंने अपने सम्पर्क क्षमता के कारण समाज के उच्च घरानों के लोगों को अपने संगठन से जोड़ा। विभिन्न समाजिक कार्यों में उनका भरपूर सहयोग लिया। वर्तमान में श्री जीणमाता प्रचार मंडल, मुम्बई के ट्रस्टी व अध्यक्ष, राजस्थानी सेवा संस्था, भायंदर तथा अलायन्स क्लब ऑफ मुम्बई सबर्ब के अध्यक्ष, भारत विकास परिषद, भायंदर के पूर्व-अध्यक्ष, मरवाड़ी जनकल्याण परिषद, भायंदर के सचिव, परमार्थ सेवा समिति, भायंदर के उपाध्यक्ष, अग्रवाल सेवा समिति, भायंदर, परोपकार क्षेत्रिय समिति, भायंदर तथा परहित सेवा संघ, भायंदर के कार्यकारिणी सदस्य के रूप में कार्य कर रहें है।

मुम्बई में रहकर भी अपनी गांव की माटी का मोह सदैव दिल में जागृत रहा, जो सदैव इन्हें प्रेरित करता रहा कि अपने गांव के लिए कुछ करें। गांव के विकास के साथ इन्होंने अपने गांव में एक भव्य राम मंदिर का निर्माण करवाया। स्थानीय कुलदेवी श्री जीण माता जिसे हम सनातन हिन्दू धर्मग्रंथों में आदिशक्ति नवदुर्गा के प्रथम रूप मां जयंति व भ्रामरी देवी के रूप में भी जानते हैं, के गौरव-गाथा को देश-विदेश में प्रचार-प्रसार करने में अपना महत्वपूर्ण योगदान किया। श्री जीणमाता प्रचार मंडल, मुम्बई के नाम से एक ट्रस्ट का गठन किया, जिसके ये ट्रस्टी और अध्यक्ष भी हैं। इस संस्था के माध्यम से श्री जीण माता समर्थकों के लिए मुम्बई के उपनगर मलाड़ में माता का एक भव्य मंदिर का निर्माण कार्य भी करवाया। इनके नेतृत्व में राजस्थान के गौरया रोड़ पर श्री जीणधाम सर्व सुविधायुक्त धर्मशाला का निर्माण करवाया जा रहा है।

राजस्थानी संस्कृति एवं रीति-रिवाज को परदेश में जिंदा रखने के लिए राजस्थानी सेवा संस्था जिसके अध्यक्ष भी है, के माध्यम से मुम्बई उपनगर भायंदर में प्रतिवर्ष तीज महोत्यव का भव्य आयोजन किया जाता है। इसमें राजस्थान की माटी से जुड़े लोक कलाकारों की अनुठी प्रस्तुति, राजस्थानी मेले का आयोजन जिसमें विशेष रूप से पारंपरिक झूले, राजस्थानी व्यंजन, कठपुतली नृत्य आदि का आयोजन किया जाता है। राजस्थानी प्रतिभाओं को भी उनके उलेख्यनीय कार्यों के लिए विविध अवार्ड़ देकर सम्मानित भी करते है।


Biography

Basic Info…
Name : Narendra Gupta (S.E.O.)
Born : 23 September 1963
Education : Post Graduate
Profession : Business

Family Member Info…
Father : Late Shri Kalu Ram
Mother : Smt. Patasi Devi
Wife : Smt. Meena N. Gupta
Daughter : Ankita Gupta

Brothers :
Shri Shyamlal Agrawal
Shri Mohanlal Agrawal

Organization …
Narendra Textile Agency
N. K. Textile Agency

Related Society & Trust …
Trustee & President :
Shri Jeenmata Prachar Mandal-Mumbai

President :
Rajasthani Seva Santha, Bhayander
Allyance Club Mumbai Suburb

Ex-President :
Bharat Vikas Parishad, Bhayander

Secretary :
Marwadi Jankalyan Parishad, Bhayander

Vice-President :
Parmarth Seva Samiti, Bhayander

Committee Member :
Agrawal Seva Samiti, Bhayander
Paropkar Kshetriya Samiti, Bhayander
Parhit Seva Sangh, Bhayander

Related Location…
Native : Bhudoli, Tahsil - Nimkathana,
             Dist-Sikar, Rajasthan, India
Education: Rajasthan University, India
Work Area :Mumbai, Maharastra, India

Get In Contact
Address: B-01, Sea Wind, New Ravi Raj Complex, Jesal Park, Bhayander East, Dist. - Thane, Maharashtra, Pin - 401 105 (India)

Tel: +91 - 98204 39742
Email:narendrasinganchi@gmail.com


श्री नरेन्द्र गुप्ता के जीवन के कुछ अनमोल यादगार पल की चित्रित झलकियाँ