जनता की पुकार द्वारा आयोजित 37 वाँ अखिल भारतीय विराट कवि सम्मेलन 2015 की चित्रित झलकियाँ

मुम्बई की प्रमुख समाजिक व साहित्यिक संस्था जनता की पुकार द्वारा 37 वाँ अखिल भारतीय विजयदशमी विराट कवि सम्मेलन का आयोजन 23 अक्टूबर को शाम 7 बजे से गिरगाँव चौपाटी (सागर तट), मुम्बई में आयोजित किया गया। संस्थाध्यक्ष कैलाश अग्रवाल ने बतलाया कि हर वर्ष की भाँति इस वर्ष भी देश के विभिन्न भागों से सुप्रसिद्ध कवियों को आमंत्रित किया गया था। उन कवियों में हरिओम पवार, सत्यनारायण सत्तन, श्रीमती पूनम वर्मा, सुरेन्द्र यादवेन्द्र, नरेंन्द्र बंजारा आदि प्रमुख थे। कार्यक्रम का शुभारंभ सुप्रसिद्ध समाजसेवी व व्यवसायी देशबंधू कागजी द्वारा दीप प्रज्जवलन कर किया गया। कविमंच का संचालन कवि विनित चौहान द्वारा किया गया। इस कार्यक्रम में समारोह अध्यक्ष राजेन्द्र अरूण (अध्यक्ष, रामायण सेंटर मारीशस), कवि सम्मेलन संयोजक विधायक मंगलप्रभात लोढ़ा तथा विशिष्ठ अतिथियों में विधायक राज के. पुरोहित, पूर्व विधायक अतुल शाह, दीनानाथ चतुर्वेदी, महावीर प्रसाद गुप्ता, महेश बंशीधर अग्रवाल, विनोदीलाल पचेरीवाला, वीरेन्द्र अग्रवाल, जगदीश तोदी, लक्ष्मीकांत राठी, विनोद लाठ आदि उपस्थित हुए। कार्यक्रम को सफल बनाने में संस्था के मार्गदर्शक स्वरूपचंद गोयल, संरक्षक मथुराप्रसाद अग्रवाल, कार्यकारी अध्यक्ष सुरेशचंद अग्रवाल, उपाध्यक्ष जीवराज शाह एवं श्रीकांत मंत्री, मंत्री राजकुमार सराफ, संयुक्तमंत्री किशन डागलिया एवं प्रेमसागर गुप्ता, कोषाध्यक्ष धनप्रकाश जैन आदि का विशेष योगदान रहा।