राजस्थानी महिला मंडल द्वारा आयोजित जागृति सम्मेलन 2016 की चित्रित झलकियाँ

मुम्बई के राजस्थानी महिलाओं की सुप्रसिद्ध सामाजिक संस्था राजस्थानी महिला मंडल द्वारा पर्यावरण में बढते प्रदूषण को कम करने तथा लोगों को उसके प्रति जागरूक बनाने के उद्देश से 4 मार्च 2016 को ग्वालियर टैंक के श्री तेजपाल पोद्दार हॉल में एक कार्यक्रम जागृति सम्मेलन 2016 का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि महाराष्ट्र सरकार के मुख्यमंत्री श्री देवेन्द्र फडणवीस की धर्मपत्नी श्रीमती अमृता फडणवीस तथा विशेष अतिथि के रूप में सामाजिक कार्यों में 2015 का प्रतिष्ठित रमन मैगसेसे अवार्ड विजेता श्री अंशु गुप्ता विशेष रूप से उपस्थित हुए। मंच का संचालन तथा मुख्य अतिथि का सम्मान सुप्रसिद्ध समाजसेविका व लोढ़ा फांउडेशन के चेअरमैन श्रीमती मंजू मंगलप्रभात लोढ़ा द्वारा किया गया। विशेष अतिथि का सम्मान संस्था की ट्रस्टी श्रीमती वंदना सराफ द्वारा पुष्पगुच्छ व शॉल से किया गया। पर्यावरण प्रदुषण के प्रति लोगों को सचेत करने तथा घर से निकलने वाले कचरा से जैविक खाद के निर्माण को प्रोत्साहन देने के प्रशंसनीय कार्यों के लिये श्रीमती रागनी जैन को राजस्थानी महिला मंडल की ओर से मुख्य अतिथि श्रीमती अमृता फडणवीस ने प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। मुम्बई के विभिन्न हाउसिंग सोसाइटी द्वारा किये जा रहे कचरा प्रबंधन प्रतियोगिता के मुख्य विजेता विर्ले-पार्ले (पूर्व) की देवानगनी हाउसिंग सोसाइटी को भी सम्मानित किया गया। सोसाइटी की ओर से श्री सतीश जी. कोलवनकर एवं श्री केतन शाह ने इस सम्मान को श्रीमती अमृता फडनवीस के हाथों ग्रहण किया।
कार्यक्रम के दौरान श्रीमती अमृता फडनवीस ने भारत सरकार द्वारा चलाये जा रहे स्वच्छ भारत मिशन से जुडकर लोगों के अधिक से अधिक स्वच्छता को अपनाने तथा अपने आस-पास के वतावरण को स्वस्च्छ बनाये रखने का अह्वान किया। साथ ही पर्यावरण में हो रहे विभिन्न प्रदुषण (जल, वायु, मिट्टी, ध्वनी, प्रकाश आदि) के प्रति भी लोगों को सचेत किया। वहीं रमन मैगसेसे अवार्ड विजेता श्री अंशु गुप्ता ने अपने संबोधन में ग्रामीण महिलाओं के विशेष दिनों (मासिक धर्म) में होने वाली समस्याओं पर बड़े ही बेबाकी से प्रकाश डाला तथा उनके प्रति लोगों को अपना नजरिया बदलते हुए सहयोग के लिये आगे आने का अह्वान किया। संस्था की अध्यक्षा श्रीमती उर्मिला रूंगटा ने अतिथियो तथा कार्यक्रम में उपस्थित सभी लोगों का आभार व्यक्त किया।