राजस्थानी सेवा संस्था भायंदर द्वारा आयोजित राजस्थान दिवस उत्सव 2016 की चित्रित झलकियाँ

राजस्थानी सेवा संस्था भायंदर द्वारा राजस्थान स्थापना दिवस के उपलक्ष्य में राजस्थान दिवस उत्सव का भव्य आयोजन बालाजी ग्राउंड जैसल पार्क चौपाटी भायंदर पर सरंक्षक सुनील पाटोदिया, उमरावसिंह ओस्तवाल, सुरेन्द्र सितानी के मार्गदर्शन में बड़े धूमधाम से किया गया। अध्यक्ष नरेन्द्र गुप्ता ने बताया कि राजस्थानी मेले का शुभारंभ राजस्थान के प्रमुख देवी देवताओं की पूजा के साथ हुआ। गणेश मंदिर के यजमान राजस्थानी मित्र मंडल, सालासर बालाजी के यजमान सुनीता रमाकांत परसरामपुरिया, खाटूश्यामजी के यजमान सुनीता प्रदीप शर्मा, रानीसतीजी के दिलखुश अर्जुन सरुप्रिया, जीणमाता जी के यजमान श्री जीणमाता प्रचार मंडल, मुंबई के द्वारा पंडितों ने विधि विधान से मंत्रोचार के साथ स्थापना करवाई। शाम होते ही राजस्थानियों का मेले में आने का तांता लग गया जो देर रात तक चलता रहा। हजारों की संख्या में उपस्थित राजस्थानियों ने चटपटे राजस्थानी व्यंजनों एवं राजस्थानी कला कठपुतली, कुम्हार, मणियार कच्छी घोड़ी, प्रदर्शनी इत्यादि का आनन्द लिया। सांस्कृतिक कार्यक्रम की रंगारंग प्रस्तुति शांति चतुर्वेदी एंड ग्रुप द्वारा दी गई जिसमें राजस्थान की माटी से जुड़े लोक कलाकारों द्वारा महाराणा प्रताप की जीवनी पर सजीव चित्रण प्रस्तुत किया गया जिसे देखकर दर्शक अभीभूत हो गए। राजस्थान की प्रसिद्ध गायिका रेखा राव द्वारा राजस्थानी गीतों की प्रस्तुति पर सब झूम उठे।
राजस्थान शिरोमणि अवार्ड श्रीमती राजेश्वरी मोदी को, राजस्थानी अभिनय सम्राट अवार्ड चैतन्य आदीब (बालिका वधु फेम) और रेखा वशिष्ठ (राजस्थानी फिल्म अभिनेत्री) मुख्य अतिथि उद्योगपति रामविलास हुरकट, गणपत कोठारी, किशोर खाबिया जैन, सनी अग्रवाल विधायक प्रताप सरनाईक, विधान परिषद सदस्य मुजफ्फर हुसैन की उपस्थिति में प्रदान किया गया। श्रीमती राजेश्वेरी मोदी द्वारा अपने उद्बोधन में संस्था द्वारा किए जा रहे कार्यों की सराहना की एवं राजस्थानी महिला को राजस्थान शिरोमणि अवार्ड दिए जाने पर भूरी-भूरी प्रशंसा की। महासचिव विकास केडिया ने बताया कि कार्यक्रम में 3 विकलांगों को ट्राई साईकल भी वितरित की गई।
वित्त सचिव किशन काबरा ने जानकारी दी कि कार्यक्रम में नगरसेवक यशवंत कांगणे, सुमन कोठारी, सुनीला शर्मा, वर्षा भानुशाली, डिम्पल मेहता, शिल्पा भावसार, पूर्व नगर सेवक ओमप्रकाश गाड़ोदिया, शानू गोहिल, सोहन राज जैन, शिवप्रकाश भुदेका, सुधा गोयनका, डाक्टर शिवभगवान अग्रवाल, सोहनसिंह राजपुरोहित श्री जीणमाता प्रचार मंडल के ट्रस्टी प्रमोद सांगानेरिया, प्रवीण मुकीम, विजय डोकानियां इत्यादि गणमान्य लोगों की उपस्थिति रही।
कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए संयोजक भरत अग्रवाल, विनय बाछुका, नरेश केडिया, राजेंद्र अग्रवाल, शरद गोयनका, प्रदीप गर्ग, अशोक जैन, कैलाश केजड़ीवाल, श्रवण गोयल, सुभाष सिंघानिया, पवन अग्रवाल, आत्माराम डालमिया, नवल किशोर सेकसरिया, प्रदीप शर्मा, रमाकांत परसरामपुरिया, विमल ड्रोलिया, संजय पोदार, सुरेश खंडेलवाल, राजेंद्र चौधरी, ताराचंद टेलर एवं महिला सदस्यों का विशेष योगदान रहा। संस्था प्रकल्पों के संयोजकों का अभिनन्दन किया गया। व्यावसायिक शिक्षा में उत्तीर्ण संस्था सदस्यों के बच्चों का भी अभिनंदन किया गया। संचालन देवेन्द्र पोरवाल ने किया।