नववर्ष पर 2018 फलों से हुआ जीणमाता का मनमोहक श्रृंगार


प्रवासी राजस्थानी समुदाय की प्रमुख आराध्य देवी जीणमाता के साई दर्शन मंदिर परिसर, मलाड़ पश्चिम स्थित मंदिर में नववर्ष के उपलक्ष्य में श्री जीणमाता प्रचार मंड़ल मुम्बई द्वारा भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया। संस्था के ट्रस्टी व अध्यक्ष श्री नरेन्द्र गुप्ता ने बतलाया कि मुख्य यजमान श्री नंदलाल जांगिड़ परिवार द्वारा पूजा करके ज्योत प्रज्जवलित की गयी। मंडल के ट्रस्टी प्रकाश अग्रवाल के आकस्मिक निधन पर मौन रखकर श्रद्धांजलि दी गयी। आधुनिक युग में समाज में पश्चिम संस्कृति जोर पकड़ रही है और भारतीय संस्कृति से लोग दूर हो रहे है, इसके मद्देनजर मण्डल द्वारा हर साल इस कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है। हर वर्ष भिवंड़ी, थाना, भायंदर व उपनगर से आने वालों भक्तों की संख्या बढ़ती जा रही है। इस वर्ष भी विभिन्न प्रकार के 2018 फलों से माताजी का भव्य श्रृंगार किया गया एवं मंदिर परिसर को फूलों से सजाया गया था। जिसको देखकर भक्तगण अभिभूत हो गए। अखण्ड ज्योत, छप्पन भोग, के दर्शन के साथ भक्तों ने नववर्ष का स्वागत किया। नववर्ष प्रारंभ होने पर फूलों की वर्षा व केक काटा गया।
ट्रस्टी व महासचिव श्री विजय डोकानिया के अनुसार मंगला पुरोहित व सहयोगियों द्वारा संगीतमय मंगल पाठ एवं सुमधुर भजनों की प्रस्तुति पर भक्तगम झूम उठे। सैकड़ों की संख्या में उपस्थित भक्तगणों द्वारा माताजी को चुनड़ी ओढ़ाई गयी। अध्यक्ष ने सभी भक्तों को शुभकामनायें देते हुए कहा कि नववर्ष का प्रथम सुर्योदय आपके जीवन में उमंग, उपलब्धि, सुख, सौभग्य, शांति और ढ़ेर सारी खुशियाँ लेकर आये। मंडल का नव वार्षिक महोत्सव 18 मार्च 2018 को आयोजित किया जायोगा। ट्रस्टी शंकर मित्तल, प्रमोद सांगनेरिया, प्रवीण मुकीम, सांवलचंद अग्रवाल, विष्णु केजड़ीवाल, नरेन्द्र खेतान, सुरेश पुरोहित, भरत अग्रवाल, गोपाल जोशी आदि का विशेष योगदान रहा।


राजस्थानी महिला मंडल का आनंद मेला 14 जनवरी को मरीन ड्राइव पर

राजस्थानी महिला मंडल द्वारा हर साल आयोजित किया जाने वाला प्रसिद्ध आनंद मेला इस बार 14 जनवरी को मरीन ड्राइव स्थित विल्सन जिमखाना में आयोजित किया जा रहा है। जानीमानी समाजसेविका, लेखिका एवं राजस्थानी महिला मंडल की उपाध्यक्ष श्रीमती मंजू लोढा ने बताया कि राजस्थानी संस्कृति एवं परंपरा सहित राजस्थानी खानपान की झलक को मुंबई के जीवन को पेश करने वाला यह मेला शाम 4 बजे से शुरू होकर रात 10 बजे तक चलेगा।
मुम्बई में आनंद मेला अब राजस्थानी समाज की मुख्य पहचान बन चुका है। इस मेले में राजस्थानी भोजन परंपरा के विभिन्न व्यंजन एवं राजस्थानी परिवेश की विविधता का प्रदर्शन होगा। आनंद मेला में लोग मुंबई के अत्याधुनिक शहरी परिवेश से बाहर निकलकर राजस्थानी कला, संस्कृति एवं राजस्थानी परंपरा के माहौल को सुकून से सहेज पाएंगे। मरीन ड्राइव स्थित विल्सन जिमखाना में आयोजित होने वाले इस मेले में करीब 5 हजार से ज्यादा राजस्थानी समाज के लोग भाग लेंगे। संस्था की अध्यक्ष शोभा मेहता ने राजस्थानी समाज के लोगों से आनंद मेले के इस आयोजन में बड़ी संख्या में शामिल होने की अपील की है।


परोपकार की थाना - भिवंडी क्षेत्रीय समिति के तत्वावधान में काशीनाथ घाणेकर नाट्यगृह थाना में कवि सम्मलेन का आयोजन संपन्न

सामाजिक , साहित्यिक तथा सांस्कृतिक संस्था परोपकार की थाना - भिवंडी क्षेत्रीय समिति के तत्वावधान में काशीनाथ घाणेकर नाट्यगृह थाना में कवि सम्मलेन का आयोजन संपन्न हुआ। सम्मलेन की शुरुआत सरस्वती वंदना एवं दीप प्रज्ज्वलन से हुई। इस अवसर पर मुख्य अतिथि श्री महेश अग्रवाल, प्रमुख अतिथि श्री एकनाथ शिंदे, सम्माननीय अतिथि श्री महेश बी. अग्रवाल, श्री राजन विचारे, श्री कपिल पाटिल उपस्थित थे। इनका स्वागत श्री शंकर केजरीवाल , श्री कैलाश अग्रवाल के साथ श्री मनोज डूढाणी, राजेन्द्र डागा व ओमप्रकाश झाझुका आदि पदाधिकारियों ने किया।
मंच संचालन आमंत्रित श्री सत्यनारायण सत्तन ने अत्यंत सुंदर ढंग से किया। आंमत्रित कवियों में शैलेश लोढ़ा, सुनील जोगी, अरुण जेमिनी, प्रवीण शुक्ला, प्रशांत कुमार एवं महेश दुबे ने अपनी रचनाओं से साहित्य प्रेमियों को भरपूर आनंद प्रदान किया। संस्था अध्यक्ष श्री शंकर केजरीवाल ने संस्था के 20 वें वर्ष में प्रवेश पर सभी को बधाई दी। कार्यक्रम का संचालन श्री भूपेन्द्र गुप्ता ने किया।


परोपकार द्वारा आयोजित 20 वाँ अंतर्राष्ट्रीय कवि सम्मलेन कार्यक्रम का मंचन

मुंबई महानगर की प्रमुख साहित्यिक, सामाजिक एवं सांस्कृतिक संस्थान परोपकार द्वारा 20 वाँ अंतर्राष्ट्रीय कवि सम्मेलन बिरला मातोश्री सभागार धोबी तालाब, मरीन लाईन्स मुंबई में आयोजित किया गया | कार्यक्रम माँ सरस्वती की वंदना एवं दीप प्रज्ज्वलन से प्रारंभ किया गया। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्री ओमप्रकाशजी माथुर राष्ट्रीय उपाध्यक्ष भारतीय जनता पार्टी, सांसद भारत सरकार का स्वागत सांस्कृतिक समिति के चैयरमैन कैलाश अग्रवाल व कार्यक्रम संयोजक गणपत कोठारी ने शॉल व पुष्पगुच्छ देकर किया। कार्यक्रम के विशेष अतिथि श्री कमल गुप्ता चैयरमैन - ओमकार बिल्डर्स का स्वागत संस्था के अध्यक्ष शंकर केजरीवाल व महामंत्री रामकिशोर दरक ने शॉल व पुष्पगुच्छ देकर किया। कार्यक्रम के विशेष अतिथि श्री पुष्प जैन पूर्व सांसद का स्वागत संस्था के कोषाध्यक्ष शंकर जालान व मंत्री नरेश बंसल ने शॉल व पुष्पगुच्छ देकर किया। इस कार्यक्रम का विशेष आकर्षण भारत रत्न श्री अटल बिहारी वाजपेयी श्रेष्ठ कवि सम्मान 2017 कवि श्री सत्यनारायण सत्तन - इन्दौर का स्वागत कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्री ओमप्रकाश माथुर ने शॉल ,पुष्पगुच्छ , मोमेन्टो व 1 लाख 11 हजार 111 रूपये (1,11,111) राशि देकर किया।
यह कार्यक्रम ठीक 7 बजे से शुरू हुआ व रात्रि 11 बजे तक निरन्तर चला। पूरा सभागार खचाखच भर गया था। आये हुए सभी कविप्रेमियों ने इस कार्यक्रम का भरपूर आनंद उठाया| आमंत्रित कवियों में शैलेश लोढ़ा तारक मेहता का उल्टा चश्मा फेम, सत्यनारायण सत्तन - इन्दौर, अरुण जेमिनी - दिल्ली, प्रशांत कुमार - मेरठ, प्रवीण शुक्ला - दिल्ली, विनीत चौहान - अलवर, मुमताज नसीम - दिल्ली अपनी कविताओं से दर्शकों का मन ने मोह लिया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्री ओमप्रकाशजी माथुर ने अपने उदबोधन में संस्था को 20 वें वर्ष में प्रवेश करने के लिए शुभकामनायें दी। कार्यक्रम के अतिथियों तथा सत्कारमूर्ति का परिचय मंच संचालक मनमोहन मालू ने दिया। महामंत्री रामकिशोर दरक ने आये हुए अतिथियों का आभार प्रकट किया। संस्था के अध्यक्ष शंकर केजरीवाल संस्था के 20 वें वर्ष में प्रवेश करने के लिए बधाई दी और साथ ही साथ इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए सभी कार्यकर्ताओं का आभार प्रकट किया।


वर्ष 2017 के समापन से पूर्व विकलांगों / दिव्यांगों को टी-शर्ट एवं ट्राउजर वितरण सम्पन्न

अग्रबंधू सेवा समिति मुम्बई के तत्वाधान में महादेवी परमेश्वरीदास चेरिटेबल ट्रस्ट मुम्बई के सौजन्य से वर्ष 2017 के समापन से पूर्व समाजसेवी श्री ललित बगड़िया के सानिध्य, अग्रबंधू सेवा समिति के ट्रस्टी श्री कानबिहारी अग्रवाल की अध्यक्षता में भायखला मुम्बई स्थित आशादान विकलांग आश्रम में 350 महानुभावों (विकलांगों / दिव्यांगों) को टी-शर्ट एवं ट्राउजर वितरण किया गया।
आशादान आश्रम के ट्रस्टी व सभी व्यवस्थापकों एवं कर्मचारियों ने इस वितरण समारोह में उपस्थित रहकर आयोजन को सम्पूर्णता के साथ सफल बनाया। इस अवसर पर विभिन्न सामाजिक / धार्मिक संस्थाओं के पदाधिकारियों ने आयोजन को अपनी शुभकामनाऐं देते हुऐ आयोजकों का उत्साहवर्धन किया।
उपरोक्त जानकारी संस्था के मानद्मंत्री श्री उदेश अग्रवाल, कोषाध्यक्ष श्री गोपालदास गोयल ने देते हुए बतलाया कि सभी का आभार संयुक्तमंत्री श्री अनिल आर. अग्रवाल ने माना।


Rotary Club of Bombay North Inaugurates 100 Tribal Household Toilets

District governor of Rotary District 3141 Rtn. Prafull Sharma has inaugurated 100 tribal household toilets at Village Pimpri Sado & Borli in Igatpuri Taluka of District Nasik.
Rotary Club of Bombay North President Rtn. Dr. Ashok Ajmera in an interview said that the said project was conceived in July, 2017 under the Swachh Bharat Mission of PM Narendra Modi with the help of donation from Blue Cross Laboratory. The villagers, specially young girls and ladies were very happy having toilets in each hutments.
The Rotary Club of Bombay North is engaged in several big community service projects like Skin Bank at NBC Airoli, Vocational training at their own centre at BDD Chawls having trained sofar more than 10,000 local residents, speciality Eye check up centre at Masina Hospital, Free Medical Camp at Chimanlal Nathuram High School. RCBN is also setting up a speciality eye Hospital at Ramakrishna Mission Dehradun with project outlay of more than Rs7.50crores. During my year of Presidency, we have projects worth Rs10.00crores this year says Dr.Ashok Ajmera.


अग्रबंधू सेवा समिति मुम्बई द्वारा आयोजित श्रीमद्भागवत कथा में हजारों भक्तों ने किया कथा का श्रवण


अग्रबंधू सेवा समिति मुम्बई एवं श्री रतन कैलाशचन्द्र अग्रवाल परिवार मुम्बई के संयुक्त तत्वाधान में “श्रीमद्भागवत कथा ज्ञानयज्ञ” का भव्य आयोजन कमला विहार स्पोट्स क्लब के सामने, महावीर नगर, कांदीवली (वेस्ट), मुम्बई में किया गया। गौ सेवा धाम हॉस्पिटल के सेवार्थ आयोजित इस मार्मिक आयोजन में मुम्बई में पहली बार पूज्य देवी चित्रलेखा जी के मुखारविंद से हजारों लोगों को कथा का श्रवण कराया गया। पूज्य देवी चित्रलेखा जी ने भक्तों को कथा का रसपान कराते हुए कहा कि श्रीमद्भागवत कथा पुराण के श्रवण मात्र से जीव का कल्याण हो जाता है। पुराण के प्रत्येक शब्द में भगवान विष्णु जी का वास है। उन्होंने समस्त भक्तों से कहा कि कथा श्रवण के साथ-साथ गौ-सेवा का संकल्प सभी को लेना चाहिए।
कथा विराम दिवस पर प्रेरणामूर्ती कथा प्रवक्ता पूज्या देवी चित्रलेखा जी का संस्थाध्यक्ष श्री लक्ष्मीनारायण अग्रवाल, मानद्मंत्री श्री उदेश अग्रवाल, कोषाध्यक्ष श्री गोपालदास गोयल, कथा के मुख्य यजमान श्री अमरीशचंद अग्रवाल, कथा संकल्प यजमान श्री रतन कैलाशचंद अग्रवाल, दैनिक प्रसाद यजमान श्री महेशबंशीधर अग्रवाल (थाना), ट्रस्टी श्री किशनचंद गुप्ता, कथा प्रसंग यजमान श्री राम बाबूलाल जोजोदिया एवं श्री विनोद बी. अग्रवाल, कथा संयोजक श्री अनिल आर. अग्रवाल, समन्वय सदस्य श्री प्रवीण अग्रवाल, श्री जयेश रायचुरा, ट्स्टी व मीडिया प्रभारी श्री कानबिहारी अग्रवाल, सदस्य श्री चमनलाल अग्रवाल, उपाध्यक्ष श्री नरेश गुप्ता आदि ने उनके साथ उपस्थित रहकर आशीर्वाद लिया।
संस्था के ट्रस्टी / मीडिया प्रभारी एवं समन्वयक श्री कानबिहारी अग्रवाल ने आगे बतलाया कि कथा के षष्टम दिवस में महारास, मथुरा गमन एवं रुकमणि विवाह का वर्णन जहाँ भक्तों को सुनने को मिला, वहीं झांकी के माध्यम से यह चित्रण दिखाया गया। कथा के समापन के अवसर पर श्री सुदामा चरित्र, भागवत सार, पुर्णाहुति हवन एवं महाप्रसाद का भी लौकिक आनंद भक्तों को मिला। दैनिक कथा प्रसंगों के यजमानों में श्री बिनोद बी. अग्रवाल परिवार, श्रीमती अलका सुनील गुप्ता, श्री भूवनेश गौरीशंकर अग्रवाल, श्रीमती गायत्री बाबूलाल अग्रवाल, श्री किशनबिहारी कागजी, श्रीमती कमलेश छगनलाल अग्रवाल, श्री राम बाबूलाल जाजोदिया एवं श्रीकृष्ण जन्मोत्सव के यजमान श्रीमती सरला अशोक सरावगी परिवार, गोवर्धन पूजा एवं छप्पन भोग के श्रीमती शालिनी आलोक अग्रवाल परिवार, महारास के श्रीमती शोभा बृजमोहन अग्रवाल के नेतृत्व में सम्पूर्ण अग्रबंधू महिला समिति एवं रुकमणि विवाह के श्रीमती स्नेहलता मनमोहन गुप्ता परिवार द्वारा यजमान के रूप में सहयोग प्रदान किया गया। More »


श्रीमद्भागवत कथा ज्ञानयज्ञ के छठवें दिन भक्तों ने महारास, मथुरा गमन तथा रूक्मणी विवाह का भरपूर आनंद उठाया


अग्रबंधू सेवा समिति मुम्बई एवं कथा संकल्प यजमान श्री रतन कैलाशचन्द्र अग्रवाल परिवार मुम्बई के संयुक्त तत्वाधान में “श्रीमद्भागवत कथा ज्ञानयज्ञ” के छठवें दिन भक्तों ने परम पूज्य देवी चित्रलेखा जी महाराज के सुमधुर वाणी से हजारों भागवत भक्तों ने महारास, मथुरा गमन तथा रूक्मणी विवाह का भरपूर आनंद उठाया। संस्था के अध्यक्ष श्री लक्ष्मीनारायण अग्रवाल (मन्नू सेठ) एवं मानद्मंत्री श्री उदेश अग्रवाल ने बतलाया कि कथा मुख्य यजमान श्री अमरीशचंद अग्रवाल परिवार तथा कथा यजमान श्रीमती कमलेश छगनलाल अग्रवाल एवं आज के महोत्सव यजमान श्रीमती स्नेहलता मनमोहन गुप्ता परिवारीजनों के साथ उपस्थित होकर पूज्या देवी जा का आशीर्वाद ग्रहण कर कथा का लाभ लिया।
संस्था के महिला अध्यक्षा श्रीमती शोभा बृजमोहन अग्रवाल के निर्देशन में, उपाध्यक्षा श्रीमती सुधा लक्ष्मी अग्रवाल, श्रीमती ज्योति उदेश अग्रवाल के मार्गदर्शन में महिला समिति मंत्री श्रीमती मधु राजेन्द्र अग्रवाल, कोषाध्यक्षा श्रीमती बबीता शरद गोयल, संयुक्तमंत्री श्रीमती अनिता अनिल अग्रवाल, श्रीमती प्रीति गणेश गुप्ता, सदस्या श्रीमती पार्वती बसंत केडिया, श्रीमती शशी सुनील अग्रवाल, सविता महेन्द्र अग्रवाल, श्रीमती नीता नीरज गोयल, श्रीमती निशा जैन, श्रीमती नूतन मनोज अग्रवाल, श्रीमती विनिता अनिल अग्रवाल, श्रीमती शालिनी आलोक अग्रवाल, श्रीमती रूची सुनिल जैन, श्रीमती प्रीती मुकेश गोयल, श्रीमती नेहा नीरज जैन, श्रीमती प्रीती सुधीर अग्रवाल, श्रीमती सीमा सुशील गुप्ता, श्रीमती नीता रमेश जैन सहित नारी शक्ति मंडल सदस्या सर्वश्रीमती ममता अमरीश अग्रवाल, हंसा कानबिहारी अग्रवाल, आशा कैलाशचन्द्र अग्रवाल, पुष्पा नरेन्द्र अग्रवाल, संतोष हरीश अग्रवाल, पूनम विजय अग्रवाल, ममता रतन अग्रवाल, शीतल बिपीन अग्रवाल, जयश्री अखिल अग्रवाल, मीता जयेश रायचुरा, जया मनीष गोयल, माता आशीष अग्रवाल, गायत्री बाबूलाल अग्रवाल, मोनिका धीरेश अग्रवाल, सुमन वासुदेव सेकसरिया, बरखा दिनेश अग्रवाल, अंजली धर्मेश अग्रवाल, नीता उमेश अग्रवाल, पूजा शैलेष अग्रवाल, शिल्पी रवि अग्रवाल ने महारास लीला का भरपूर आनंद लिया। उपस्थित सभी महिला भक्तों के साथ अग्रबंधू महिला समिति ने महारास लीला कों मुम्बई की धरा पर जीवंत कर दिया। सारा पंड़ाल बृजधाम में बदल गया। उपस्थित सभी महिलायें गोपियाँ बन कर महारास लीला को चर्मोत्कर्ष तक पहूँचा दिया। पूज्या देवी चित्रलेखाजी ने भगवान् के द्वारा की गयी लीलाओं का श्रवण कराते हुए बताया कि ब्रज में की गयी भगवान की लीला स्वयं नारायण भी नहीं कर सकते। इन लीलाओं के द्वारा भक्तो को रिझाना सिर्फ भगवान् कृष्ण ही कर सकते हैं । वृन्दावन भगवान् का घर हुआ इसलिए प्रभु ने सब लीलाओं को एक साधारण बालक की तरह किया। और इस नन्हे से बालक ने अपनी मनमोहक लीलाओं के द्वारा गोपियों का मन ऐसा मोहा के गोपियों को अब न भोजन की सुध रहती है न अपने परिवार की और न ही किसी काम धाम की। गोपियाँ दिन रात कन्हैया का दर्शन करने को लालयत रहती हैं और मैया यशोदा के घर किसी न किसी बहाने के साथ जा के गोविन्द का दर्शन करतीं।
कोषाध्यक्ष श्री गोपालदास गोयल ने बतलाया की संस्था ट्रस्टी श्री अमरीशचंद अग्रवाल, श्री भगवती आर. मित्तल, श्री किशनचंद गुप्ता, श्री जगदीश खेमचंद गुप्ता उपाध्यक्ष श्री बृजमोहन अग्रवाल (बिरजू भाई), श्री अनूप बी. अग्रवाल, श्री नरेश बी. गुप्ता, श्री अनिल पी. अग्रवाल, संयुक्तमंत्री श्री अनिल आर. अग्रवाल, श्री रामप्रकाश मित्तल, कार्यसमिति सदस्य श्री अरूण अग्रवाल, श्री राजेन्द्र अग्रवाल, श्री विनोद बी. अग्रवाल, श्री बृजकिशोर अग्रवाल, श्री चमन अग्रवाल (वसई), श्री प्रवीण अग्रवाल, श्री गणेश गोविंद प्रकाश गुप्ता, श्री राजीव अग्रवाल, श्री विनोद एस. अग्रवाल, श्री नरेश चेतराम गुप्ता आदि ने रूक्णी विवाह में शामिल हुए। संस्था के ट्रस्टी व मीडिया प्रभारी श्री कानबिहारी अग्रवाल ने बतलाया कि अंत में कथा के विश्राम पर उपस्थित सभी भक्तों को दैनिक प्रसाद यजमान श्री महेश वंशीधर अग्रवाल (थाना) की ओर से प्रतिदिन की भाँति प्रसाद वितरण किया गया।


विशव अपंग दिन के उपलक्ष्य में श्री अपंग स्वाभिमान संस्था द्वारा अपंगों के लिए एक संगीतमय कार्यक्रम का आयोजन


विशव अपंग दिन के उपलक्ष्य में श्री अपंग स्वाभिमान संस्था द्वारा अपंगों के लिए एक संगीतमय कार्यक्रम का आयोजन ठाणे लोकमान्य नगर के डवले नगर मैदान में स्थित श्री स्वामी समर्थ मठ में आयोजित किया गया। जिसका उद्घाटन सुप्रयास फाउंडेशन व मारवाड़ी इन ठाणे की अध्यक्षा श्रीमती सुमन अग्रवाल ने किया। इस मौके पर संस्था के संस्थापक व अध्यक्ष राजेंद्र जैन, कार्यध्यक्ष सचिन राजेंद्र जैन, सेक्रेटरी महेश गुप्ता भी मौजूद थे। कार्यक्रम के दौरान सैकड़ों दिव्यांगों ने संस्था की तरफ से आयोजित स्वर लहरी, आशा की किरण (एक संगीतमय कार्यक्रम) का आनंद उठाया। इस मौके पर मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित श्रीमती सुमन अग्रवाल ने अपने संबोधन में कहा कि दिव्यांगों के लिए इस प्रकार के मनोरंजन का कार्यक्रम आयोजन लगातार होने चाहिए। जिससे उन्हें मानसिक बल मिलता है। साथ ही उनका अकेला पन भी इस माध्यम से दूर होता है। उन्होंने कहा कि वह विभिन्न सामाजिक संगठनों के साथ जुड़कर पिछले कई वर्षों से दिव्यांगों और आदिवासियों के लिए काम कर रहीं है। ऐसे में उन्हें पता है कि श्री अपंग स्वाभिमान संस्था एवं पदाधिकारियों द्वारा ऐसे दिव्यांगों के लिए किये जा रहा यह कार्य बहुत ही सराहनीय तथा उत्साहवर्धक है।


बेटे अगर घर का चिराग हैं, तो बेटियां दो-दो घर को रोशन करतीं हैं - देवी चित्रलेखाजी


अग्रबंधू सेवा समिति मुम्बई एवं कथा संकल्प यजमान श्री रतन कैलाशचन्द्र अग्रवाल परिवार मुम्बई के संयुक्त तत्वाधान में “श्रीमद्भागवत कथा ज्ञानयज्ञ” का भव्य आयोजन 14 से 20 दिसबंर 2017 तक प्रतिदिन दोपहर 2.30 बजे से शाम 6.30 बजे तक सप्ताह मैदान, महावीर नगर, कांदीवली (वेस्ट), मुम्बई में हो रहा है। इस “श्रीमद्भागवत कथा ज्ञानयज्ञ” में प्रतिदिन हजारों लोग उपस्थित होकर पूज्या देवी चित्रलेखा जी महाराज के मुखरविन्द से अमृतरूपी श्रीमद्भागवत कथा की श्रवण कर रहे है। मुख्य यजमान श्री अमरीशचंद अग्रवाल के सानिध्य एवं संस्थाध्यक्ष श्री लक्ष्मी अग्रवाल (मन्नू सेठ) की अध्यक्षता में पधारने वाले सबी भक्तजनों के लिये सभी प्रकार के व्यवस्थायें कराई जा रही है। आज के कथा यजमान श्री किशन बिहारी कागजी एवं आज के महोत्सव यजमान डॉ. आलोक अग्रवाल पत्नी श्रीमती शालिनी अग्रवाल एवं अनुज श्री सुधीर अग्रवाल पत्नी श्रीमती प्रीति अग्रवाल परिवारीजनों के साथ उपस्थित होकर पूज्या देवी जा का आशीर्वाद ग्रहण कर कथा का लाभ लिया।
संयोजक श्री अनिल आर. अग्रवाल एवं मानद् मंत्री श्री उदेश अग्रवाल ने बतलाया कि परम पूज्या चित्रलेखा देवीजी ने सर्व प्रथम बताया की कैसे भगवान् का दर्शन करने सारी सृष्टि नन्दभवन की ओर प्रस्थान करने लगी। समस्त ग्राम वासी, देवता, गंधर्व, आदि आदि भगवान् के बाल स्वरुप का दर्शन करने पधारे। माता यशोदा ने नंदमहल के सारे भण्डार खोल दिए नंद बाबा ने झोली भर भर बधाइयाँ लुटाई। आज सबकी इच्छा पूरी हो रही है कुबेर ने भण्डार खोल दिया है और लोग ऐसे बधाइयाँ लूटा रहे है जैसे गोविन्द के उन्ही की घर जन्म लिया हो। भगवान् की बाल लीलाओं का वर्णन करते हुए बताया के बिना भाव के भक्ति संभव नहीं । भाव होने से भगवान् खुद भक्त को समर्पित हो जाते है। जीव को भगवान के साथ किसी किसी रिश्ते से जुड़ना पड़ता है। चाहे भगवान् को वह अपना पिता स्वीकार करे मित्र या फिर प्रियतम।
ट्स्टी श्री मनमोहन गुप्ता ने बतलाया कथा के प्रसंगों में देवीजी ने कंश मामा द्वारा भेजी गयी पूतना, सकटाशुर, वकाशुर आदि आदि राक्षसों के वध की कथा सुनाई और यमला अर्जुन नाम के दो शापित वृक्षों को भगवान् की बाल लीला द्वारा मुक्त कराने की कथा सुनाई। आगे भगवान् की लीला में माखन चोरी का प्रसंग बताया की कैसे भगवान् ने माखन के साथ गोपियों का मन चुराया और गोपियों के चीर हरण कर के उन्हें पवित्र जल श्रोतों में न स्नान करने की शिक्षा दी। पश्चात भगवान् की 7 वर्ष की उम्र में की गयी गोवर्धन लीला का श्रवण कराया की कैसे भगवान् ने इंद्रदेव का घमंड चूर किया और इष्ट श्रद्धा का पाठ बृजवासियों को पढाया। भगवान् ने गिरिराज पर्वत उठा कर इंद्र द्वारा की गयी मुसलाधार बारिश से वृजवाषियों को शरण दी।
ट्रस्टी, समन्वयक व मीडिया प्रभारी श्री कानबिहारी अग्रवाल ने बतलाया कि परम पूज्या चित्रलेखा देवीजी द्वारा कथा के मध्य गाये गए सुमधूर भजनों पर भक्तो ने झूम झूम कर नृत्य कर कथा का रसापान किया तथा भगवान के गिरीराज जी को छप्पन भोग का दर्शन कराये गये। तथा अंत में कथा के विश्राम पर उपस्थित सभी भक्तों को दैनिक प्रसाद यजमान श्री महेश वंशीधर अग्रवाल (थाना) की ओर से प्रतिदिन की भाँति प्रसाद वितरण किया गया।


नन्द के आनंद भयो जय कन्हैया लाल की - देवी चित्रलेखाजी


अग्रबंधू सेवा समिति मुम्बई एवं श्री रतन कैलाशचन्द्र अग्रवाल परिवार मुम्बई के संयुक्त तत्वाधान में “श्रीमद्भागवत कथा ज्ञानयज्ञ” का भव्य आयोजन 14 से 20 दिसबंर 2017 तक प्रतिदिन दोपहर 2.30 बजे से शाम 6.30 बजे तक सप्ताह मैदान, महावीर नगर, कांदीवली (वेस्ट), मुम्बई में हो रहा है। इस “श्रीमद्भागवत कथा ज्ञानयज्ञ” में प्रतिदिन हजारों लोग उपस्थित होकर पूज्या देवी चित्रलेखा जी महाराज के मुखरविन्द से अमृतरूपी श्रीमद्भागवत कथा की श्रवण कर रहे है।
संस्थाध्यक्ष श्री लक्ष्मीनारायण अग्रवाल (मन्नू सेठ) ने बतलाया कि प्रतिदिन की भाँति आज भी मुख्य यजमान श्री अमरीशचंद अग्रवाल परिवार द्वारा श्रीमद्भागवत पुराण पोथी की प्रारंभिक पूजा-अर्चना के पश्चात कथा के चतुर्थ दिवस में पूज्या देवी चित्रलेखाजी ने सर्वप्रथम गजेन्द्र मोक्ष की कथा श्रवण कराते हुए बताया की किसी भी योनि का जीव भगवान को प्राप्त कर सकता है। जिस तरह गजेन्द्र नाम के हाथी को तालाब में स्नान कर रहा था तब ग्राह नामक हाथी ने उसका पाँव पकड़ लिया और सभी से मदद मांगने के बाद भी किसी ने मदद नहीं की तब गजेन्द्र ने भगवान् को खुद को समर्पित किया और भगवान् ने गजेन्द्र की रक्षा की। इस प्रकार भगवान् को प्राप्त करने के लिए जीव योनि का कोई महत्त्व नहीं, उच्च योनि से लेकर निम्न योनि तक का कोई भी जीव भगवद् प्राप्ति कर सकता है। मानद्-मंत्री श्री उदेश अग्रवाल ने बतलाया कथा में आगे देवीजी ने समुद्र मंथन के बारे में बताया कि समुद्र मंथन में एक तरफ देवता और एक तरफ राक्षस रहे जहाँ भगवान् ने मोहिनी अवतार ग्रहण कर के देवताओं को अमृत पान कराया और वामन अवतार का कथा सुनाई। भगवान् वामन ने राजा बलि से संकल्प करा कर तीन पग भूमि दान में मांगी और इस तीन पग में भगवान् वामन ने पृथ्वी आकाश और तीसरे पग में राजा बलि को मापा और बलि को सुतल लोक का राजा बना के खुद वहां के द्वारपाल बने।
कथा के संयोजक एवं संयुक्त मंत्री श्री अनिल आर. अग्रवाल ने बतलाया कि तत्पश्चात देवीजी ने संक्षिप्त में प्रभु राम अवतार का श्रवण कराया। बताया की भगवान राम अपने आचरण के लिए मर्यादा पुरूषोत्तम कहे जाते है क्योंकि भगवान राम सभी नैतिक गुणों से संपन्न है। प्रभु राम के द्वारा सभी दैत्यों का संहार किया गया। और माँ सीता जी के हरण के बाद हनुमान जी से प्रभु की भेंट हुई व लंका दहन के साथ के पश्चात रावण वध का श्रवण कराकर भगवान राम के जीवन का संक्षिप्त रूप मे श्रावण कराया और कथा के विश्राम में कृष्ण जन्म की कथा को स्पर्श करते हुए बताया क़ि द्वापर युग में कंस जैसे दुष्ट पापी का अत्याचार बढ़ जाने पर प्रजा के आग्रह भगवान ने नटखट अवतार लिया और फिर कथा में सभी ने कृष्णा जन्मोत्सव का आनद लिया और कथा का विश्राम हुआ।
ट्रस्टी, समन्वयक व मीडिया प्रभारी श्री कानबिहारी अग्रवाल ने बतलाया आज की कथा यजमान श्रीमती गायत्रीदेवी बाबुललाल अग्रवाल एवं कृष्णजन्मोत्सव यजमान सुप्रसिद्ध अधिवक्ता श्री अशोक सारावगी सपत्नी उपस्थित थे। भगवान श्री कृष्ण की जन्मोत्सव झांकी में कथा के संकल्पित परिवार की ओर से श्री नरेन्द्र सुखलाल अग्रवाल (मावा वाले) के पोते को श्रीकृष्ण की भूमिका करने का सुअवसर प्राप्त हुआ। वासुदेव जी की भूमिका कथा संकल्प यजमान स्वयं श्री रतन कैलाशचंद्र अग्रवाल ने निभाई। कथा के विश्राम पर उपस्थित सभी भक्तों को देनिक प्रसाद यजमान श्री महेश वंशीधर अग्रवाल (थाना) की ओर से प्रतिदिन की भाँति प्रसाद वितरण किया गया।
कोषाध्यक्ष श्री गोपालदास जी गोयल ने बतलाया कि आज के कथा में मीरा-भायंदर के पूर्व महापौर श्रीमती गीता जैन तथा अनेक नगरसेवक , दिनडोशी डिविजन के ट्रेफिक पुलिस के सिनियर पी.आई. श्री कृष्णा कटक डॉंग, कादिवली ट्रैफिक के सिनियर पी.आई. श्रीमती रेहाना शेख, परमार्थ सेवा समिति के चेअरमैन श्री लक्ष्मीनारायण बियानी, तुलसी परिवार के संस्थापक श्री सतनारायण जी अग्रवाल आदि विशेष रूप से उपस्थित हुये। कार्यक्रम की व्यवस्था संस्था के श्रीमती शोभा बृजमोहन अग्रवाल, श्रीमती मधु राजेन्द्र अग्रवाल, ट्रस्टी सर्वश्री किशनचंद गुप्ता, भगवती आर. अग्रवाल, मनमोहन गुप्ता, संयुक्तमंत्री श्री रामप्रकाश मित्तल, कार्यसमिति सदस्य श्री बृजकिशोर अग्रवाल आदि ने संभाली।


अग्रबंधू सेवा समिति मुम्बई एवं श्री रतन कैलाशचन्द्र अग्रवाल परिवार मुम्बई के संयुक्त तत्वाधान में “श्रीमद्भागवत कथा ज्ञानयज्ञ” का भव्य शुभारंभ


अग्रबंधू सेवा समिति मुम्बई एवं श्री रतन कैलाशचन्द्र अग्रवाल परिवार मुम्बई के संयुक्त तत्वाधान में “श्रीमद्भागवत कथा ज्ञानयज्ञ” का भव्य आयोजन 14 से 20 दिसबंर 2017 तक प्रतिदिन दोपहर 2.30 बजे से शाम 6.30 बजे तक सप्ताह मैदान, महावीर नगर, कांदीवली (वेस्ट), मुम्बई में हो रहा है। इस “श्रीमद्भागवत कथा ज्ञानयज्ञ” में प्रतिदिन हजारों लोग उपस्थित होकर पूज्या देवी चित्रलेखा जी महाराज के मुखरविन्द से अमृतरूपी श्रीमद्भागवत कथा की श्रवण कर रहे है।
ट्रस्टी, समन्वयक व मीडिया प्रभारी श्री कानबिहारी अग्रवाल ने बतलाया कि कथा आयोजन को सफल बनाने के लिये श्री रतन कैलाशचंद अग्रवाल परिवार को “कथा संकल्प यजमान” एवं श्री अमरीशचंद्र अग्रवाल परिवार को “कथा मुख्य यजमान” बनाया गया है। उद्योगपति व समाजसेवी श्री महेशचंद्र वंशीधर अग्रवाल (थाना) की ओर से कथा में प्रतिदिन पधारने वाले सभी भक्तों को प्रसाद वितरण किया जा रहा है। उन्हें कथा का दैनिक प्रसाद यजमान बनाया गया है।
संस्थाध्यक्ष श्री लक्ष्मीनारायण अग्रवाल (मन्नू सेठ) ने बतलाया कि 14 दिसम्बर को प्रातः 10 बजे भव्य पोथी-कलश यात्रा के साथ कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ। पूज्या देवी चित्रलेखा जी महाराज के सानिध्य में मुम्बई के उपनगर कांदिवली पश्चिम के महावीर नगर, कमला विहार स्पोर्ट्स क्लब के सामने स्थित सप्ताह मैदान के व्यासपीठ तक निकली इस भव्य शोभायात्रा में बड़ी संख्या में महिलाएं एवं पुरुष शामिल हुए। श्रीमद्भागवत कथा का शुभारंभ उद्योगपति श्री किशोर प्रवेश कुमार अग्रवाल द्वारा दीप प्रज्जवलन करके किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में सासंद श्री गोपाल शेट्टी उपस्थित हुए। मंत्री श्री उदेश अग्रवाल ने बतलाया पहले दिन के कथा के मुख्य यजमान श्री विनोद बी. अग्रवाल सहपत्नी उपस्थित होकर हजारों लोगों के साथ श्रीमदभागवत कथा का श्रवण किया। इस अवसर पर व्यासपीठ पर विराजमान परम पूज्य देवी चित्रलेखा जी महाराज ने युवाओं से नाशकारी नशे से बचकर श्रीकृष्ण की भक्ति का नशा करने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि जिस तरह से आध्यात्मिक ज्ञान में महिलाओं का प्रभुत्व बढ़ा है, उससे सनातन संस्कृति की इस प्रथा को बल मिलता है कि महिलाओं को हर युग में सम्मान मिला है।
कथा के संयोजक श्री अनिल आर. अग्रवाल ने बतलाया कि कथा के दौरान संस्था के श्रीमती शोभा बृजमोहन अग्रवाल, श्रीमती मधु राजेन्द्र अग्रवाल, कोषाध्यक्ष श्री गोपालदास गोयल, श्रीमती बबीता शरद गोयल, ट्रस्टी सर्वश्री किशनचंद गुप्ता, भगवती आर. अग्रवाल, मनमोहन गुप्ता, एवं ट्रस्टी खेमचंद गुप्ता आदि उपस्थित होकर इस मार्मिक कथा का रसपान कर रहे है।


हिन्दुस्तान चेम्बर चिकित्सालय द्वारा निःशुल्क स्वास्थ्य परिक्षण एवं विभिन्न रोगों की जाँच शिविर आयोजित किया गया

हिन्दुस्तान चेम्बर चिकित्सालय द्वारा निःशुल्क स्वास्थ्य परिक्षण एवं विभिन्न रोगों की जाँच शिविर आयोजित किया गया। जिसमें यूरिक एसिड, एल.एफ.टी., ब्लड प्रेशर, जनरल चेकअप, थायरॉड, लिपिड प्रोफाइल, फायबर एण्ड कार्डियोलाजिस्ट ने स्वास्थ्य परिक्षण किया। इसमें करीब 125 रोगियों ने इस शिविर का लाभ उठाया।
चिकित्सालय अध्यक्ष श्री देवीचंद चौपड़ा ने बतलाया कि चिकित्सालय समय-समय पर निःशुल्क शिविर आयोजित करता है जिसका लाभ जन-साधारण उठाते है। चिकित्सालय के समान्य मंत्री श्री धनप्रकाश जैन ने बतलाया कि जाँच में जरूरतमंद को चिकित्सालय से मदद की जाएगी। इस अवसर पर चिकित्सालय द्वारा चिकित्सालय द्वारा दी जा रही निःशुल्क सेवाओं का लाभ उठाने का रोगियों से अनुरोध किया। उपाध्यक्ष श्री रामनारायण सोमानी ने सभी जाँचकर्ताओं एवं डॉक्टरों का आभार व्यक्त किया।


शबाब साबरी, संदीप बत्रा, स्वाति शर्मा, विक्की प्रसाद, अर्जुना हरजाई, शशि प्रभु, एकता जैन, श्री राजपूत बोरीवली डिज़ाइन फेस्ट में आये


आदित्य ग्रुप ऑफ इन्स्टिट्यूशन्स तो हमेशा युवाओं को बड़े सपने से प्रोत्साहित करने के सपने देखते आए है। प्रबंधकों के रूप में, डिजाइनरों के रूप में आर्किटेक्ट्स के रूप में - चाहे जो भी क्षेत्र भारतीय युवाओं के विशेषज्ञ नहीं हों, आदित्य समूह इन सपनों को पूरा करने में मदद करेगा।
क्रेडाई एमसीएचआई के साथ एजीआई, एक दृष्टि से बोरिवली डिजाइन फेयर (बीडीएफ) शुरू कर दिया है। बीडीएफ में परिवर्तन से एक समुदाय बनाने का एक प्रयास है - यह आर्किटेक्ट्स, डिज़ाइनर, डेवलपर्स, अकादमिक, कलाकार और आम लोगों के लिए अपनी प्रतिभा, डिजाइन और उत्पादों का प्रदर्शन करने के लिए एक मंच है। स्थानीय नगर निगम और अन्य सरकारी विभागों के साथ मिलकर समुदाय तक पहुंचने के लिए कलाकारों, डिजाइनरों, आर्किटेक्ट्स, अकादमी, प्रबंधन विशेषज्ञों की भूमिका के बारे में एक बड़ी समझ बनाने के लिए आज जीवन की गुणवत्ता लाने में उद्यमियों।
बीडीएफ हालांकि केवल डिजाइन के बारे में नहीं है, बोरिवली डिजाइन फेयर का उद्देश्य, डिजाइन, संस्कृति, प्रतिभा, रचनात्मकता और जीवन का एक उत्सव बनना है। इस वर्ष १५ से १७ दिसंबर तक एकता ग्राउंड, जी फोर्स स्टोर के पास, बोरिवली पश्चिम में आयोजित, यह सीखने, चर्चा, संगीत, लाइव बैंड, कॉमेडी, पुरस्कार,प्रतियोगिताओं और एकजुटता का एक रोमांचक मिश्रण होने का वादा किया है, यह सुनिश्चित करना कि हर कोई एक अच्छा समय है, यह एक ऐसा कार्यक्रम है,जिसमें सभी के लिए सबकुछ होगा।इस प्रयास में भाग्यशाली सक्षम पार्टनर हैं - लायन क्लब, पीटा, ग्लोबल आऊटडोर मीडिया प्राइवेट लिमिटेड, द्वापर प्रमोटर, मिड डे, रेड एफएम, पेटीएम और एचटी कैंपस।
शबाब साबरी, संदीप बत्रा, स्वाति शर्मा, विक्की प्रसाद, अर्जुना हरजाई, शशि प्रभु, एकता जैन, श्री राजपूत बोरीवली डिज़ाइन फेस्ट में आये। सुबह में फेस्ट का उद्घाटन जानेमाने आर्किटेक्ट शशि प्रभु ने किया और शाम को म्यूजिक के शो में बॉलीवुड के जानेमाने गायक शबाब साबरी, संदीप बत्रा, स्वाति शर्मा, विक्की प्रसाद, अनुभव सुमन, अर्जुना हरजाई और एक्टर्स एकता जैन, श्री राजपूत और हर्षवर्धन जोषी और भारत के जानेमाने फोटोग्राफर प्रवीण तलान आये। सभी गायक ने कमाल का शो किया। आदित्य कॉलेज के हरिश्चंद्र मिश्रा, गुरुनाथ दलवी, तृप्ति और आदित्य मिश्रा ने सभी मेहमानों को फूल गुच्छ देकर उनका स्वागत किया।




-: Special Advertisement :-