Organization | Rajasthani Seva Sanstha, Bhayander

संक्षिप्त परिचय: 1 मई 2011 को स्थापित यह संस्था बहुत कम समय में ही भायंदर के लोकप्रिय संस्थाओं में एक बन गया है। संस्था ने पिछले तीन सालों में सेवा के अनेक कार्य किये है। संस्था का मूल उदेश्य राजस्थानी समाज के संस्कृति से जुड़े प्रोग्राम को जीवत रखते हुए सेवा कार्यों को बढ़ावा देना है। संस्था किसी भी राजनितिक पार्टी से नहीं जुडी है, सभी को साथ लेकर चलते हुए अपने मूल अजेंडे पर अग्रसर है। संस्था द्वारा साल में अनेक प्रोग्राम किये जाते हैं उसमे मुख्य रूप से तीज महोत्सव, मेडिकल कैंप, गणेश विसर्जन पर चन्ना चाट का वितरण, मेडिकल सहायता, विकलांग सहायता, राजस्थान उत्सव पर सांस्कृतिक प्रोग्राम आदि। संस्था द्वारा हर साल ‘राजस्थानी शिरोमणि अवार्ड’ और ‘राजस्थानी अभिनय अवार्ड’ भी दिया जाता है जो की 2011 में क्रमश: श्रीमती रानी पोद्दार और शैलेश लोढ़ा, सनी अग्रवाल एवं उपासना सिंह को दिया गया और 2012 में यह क्रमश: श्रीमती मंजू मंगल प्रभात लोढ़ा, सतीश दहिया और शीतल शर्मा को दिया गया। यह अवार्ड संस्था के मुख्य कार्यक्रम तीज महोत्सव में दिया जाता है। संस्था में अभी 100 सदस्य है। संस्था मूल रूप से सरंक्षक श्री सुनील जी पटोदिया, उमराव सिंह जी ओस्तवाल एवं सुरेन्द्र जी सितानी के मार्गदर्शन में कार्य कर रही है। संस्था द्वारा आपसी पारिवारिक मेलजोल हेतु साल में एक बार पिकनिक का भी आयोजन किया जाता है। संस्था को गठन करने एवं इस स्तर तक पहुचाने में विकास केडिया, नरेन्द्र गुप्ता, संजय पोदार, शरद गोयनका, प्रदीप गर्ग, नरेश केडिया, राजेंद्र अग्रवाल, किशन काबरा, पवन अग्रवाल, अशोक जैन, बबिता केडिया, प्रभु दयाल कयाल, जीतेन्द्र रंका, आत्माराम डालमिया, रमाकांत पोद्दार आदि का भरपूर सहयोग रहा, इन सब लोगों के बिना संस्था की कल्पना नहीं जा सकती थी। विकास केडिया ने बताया कि आने वाले सालो में संस्था और नए आयाम स्थापित करने वाली है।


राजस्थानी सेवा संस्था, भायंदर द्वारा महानगर में आयोजित होनेवाले विविध कार्यक्रमों की चित्रित झलकियाँ